Musafir

मुसाफ़िर (Musafir)

We all are traveler in this journey of life. As in traveling life also offers good and bad experience which we have to face in the course of journey. The paths or ways become more familiar to us and sometimes reaching the destination doesn't matter. That's the beauty of the journey so stay entertained in this journey called life, enjoy being the traveler, never halt, never stop just walk on and on and on. 



मुसाफ़िर हूँ दिलक़श नज़ारों से गुज़ारना है,
नीले आसमां, महके चमन और बहारों से मिलना है,
बंजर ज़मीं, खंडरों और टूटे बयारों में भी चलना है,
न थमना है न रुकना है, मुझे बस चलते जाना है।
Musafir Hun Dilkash Nazaron Se Guzarna Hai,
Neele Aasman, Mehke Chaman Aur Baharon Se Milna Hai,
Banjar Zamin, Khandaron Aur Toote Bayaron Mein Bhi Chalna Hai,
Na Thamna Hai Na Rukna Hai, Mujhe Bas Chalte Jaana Hai.

लोगों के समंदर में गोते भी खाने हैं,
इतिहास के पन्ने सभी पढ़के आने हैं,
मोहब्बत के, दहशत के, किस्से सुनने-सुनाने हैं,
न थमना है न रुकना है, मुझे बस चलते जाना है।
Logon Ke Samandar Mein Gote Bhi Khane Hai,
Itihaas Ke Panne Sabhi Padke Aane Hain,
Mohabbat Ke, Dehshat Ke, Kisse Sunne-Sunane Hain,
Na Thamna Hai Na Rukna Hai, Mujhe Bas Chalte Jaana Hai.

परबतों से फिसलना है मुझे सागर पे चलना है,
रस्ते-रस्ते, गलियों-गलियों, रात-ओ-दिन टहलना है,
ज़ायके हर जगाह के, हर तरह के चख़ के आने हैं,
न थमना है न रुकना है, मुझे बस चलते जाना है।
Parbaton Se Fisalna Hai Mujhe Sagar Pe Chalna Hai,
Raste-Raste, Galiyon-Galiyon, Raat-O-Din Tehlna Hai,
Zayke Har Jagah Ke, Har Taraf Ke Chakh Ke Aane Hai,
Na Thamna Hai Na Rukna Hai, Mujhe Bas Chalte Jaana Hai.

हंसीन मंज़िल को पाकर रुक गया तो रास्तों का क्या ?
इन्ही रास्तों ने तो हर बार मंज़िल तक पहुँचाया है,
मुसाफ़िर हूँ इन्हीं राहों पे फ़िर गिरना-सम्भलना है,
ठिकाना क्या बनाना है, मुझे बस चलते जाना है।
Hasin Manzil Ko Pakar Ruk Gaya To Raston Ka Kya?
Inhi Raston Ne To Har Baar Manzil Tak Pahunchaya Hai,
Musafir Hun Inhi Rahon Pe Phir Girna-Sambhalna Hai,
Thikana Kya Banana Hai, Mujhe Bas Chalte Jaana Hai. 


मुसाफ़िर (Musafir) - Traveler ; दिलक़श (Dilkash) - Captivating ; बयारों (Byaron) - Paths ; गोते (Gote) - To Dive ; थमना (Thamna) - To Halt ; ज़ायके (Zaayke) - Taste ; ठिकाना (Thikana) - To Stay. 

Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

Singhasan Khali Karo Ki Janata Aati Hai

The Seven Stages Of Love

Ye Hai Mera Hindustan Mere Sapno Ka Jahaan